1

Tute dil or meikhane pe rang shayari

टूटे हुए दिलो की जरुरत बहुत हैं
वरना महफ़िल में रंग जमायेगा कौन
जब टूटेगा ही नहीं दिल किसी का
तो मयखाने में पीने आएगा कौन

 

मयखाने वाले की दुआ हैं जो क़ुबूल हो जाती हैं
और यहाँ हम सोचते हैं की
क्यों वो हमसे अक्सर रूठ जाती हैं

Comments

comments

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *