0

सफ़लता में खनक

ख़ामोशी से जो अपना कर्म करते हैं,
उनकी सफ़लता में खनक होती है।

 

~ जितेंद्र मिश्र ‘बरसाने’

 

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.