0

पिता आंसू दिखा नहीं सकता

घर की सारी परेशानियों को वो खिलौनों की तरह बटोर लेता है,
पिता आंसू दिखा नहीं सकता, इसलिए वो छुप के रो लेता है।

 

~ Chandra Prakash Mishra

 

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.