0

Suprabhat Bhakti Status on Shiv Shanker Bhole

सूरज जब पलके खोले, मन नमः शिवाय बोले,
मैं इस दुनिया से क्यों डरु, मेरे रक्षक है शिवशंकर भोले।