0

अब जीने में वो बचपन वाली बात नहीं

 

क्या हुआ जो अब तू मेरे साथ नहीं है,
वो पहले जैसा दिन और रात नहीं है,
तुझसे बिछडने का मलाल नहीं है मुझे,
बस अब जीने में वो बचपन वाली बात नहीं हैं।

 

– विक्रम

 

Share This