0

प्रेरणादायक मकर संक्रांति पतंग पर शायरी

हर पतंग जानती है,
अंत में कचरे मे जाना है
लेकिन उसके पहले हमे,
आसमान छूकर दिखाना है ।
“बस ज़िंदगी भी यही चाहती है”

हैप्पी मकर सक्रांन्ति

Page 7 of 9
1 2 3 4 5 6 7 8 9