0

इंसान पर बेहतरीन पंक्तिया

देखने में तो बहुत आसान है, पर आसान नहीं है।
वह लगता है परेशान, पर परेशान नहीं है।
लानत है जो किसी के, कुछ काम नहीं आता।
कहे वह अपने को इंसान, पर वह इंसान नहीं है।

 

~ जितेंद्र मिश्र ‘भरत जी’

 

Share This

True Life Shayari on Zindagi Ke Usool

लाख टके की बात –

कोई नही देगा साथ तेरा यहॉं,
हर कोई यहॉं खुद ही में मशगुल है
जिंदगी का बस एक ही ऊसुल है..!!

तुझे गिरना भी खुद है,
और सम्हलना भी खुद है..!!

तू छोड़ दे कोशिशें,
इन्सानों को पहचानने की…!!

यहाँ जरुरतों के हिसाब से,
सब बदलते नकाब हैं…!!

अपने गुनाहों पर सौ पर्दे डालकर,
हर शख़्स कहता है, “ज़माना बड़ा ख़राब है”

Share This
1

Jo pahle jitna hasta fir utna hi rota h

सच हमेशा कड़वा होता है
चैन तो इस दिल का खोता है

मीठे सपनों की ज़मीन पर
पेड़ क्यों नीम का बोता है

पहले जो हँसता है जितना
वहीं बाद में उतना रोता है ।

Share This
5

True Lines About Zeher & Shakkar

ज़हर तो बिना मतलब के ही बदनाम है,

घुमा कर देख लो एक नजर दुनिया में

शक्कर से मरने वालों की तादाद बेशुमार हैं !

Share This

Best Shayari on Maa Baap | Message for Parents

फूल कभी दो बार नहीं खिलते,
जन्म कभी दो बार नहीं मिलते,
मिलने को तो हजारो लोग मिल जाते है
पर हजारो गलतियां माफ़ करने वाले
माँ बाप नहीं मिलते..!!!!

Share This

Good Thought of The Day in Hindi

नज़र रखो अपने ‘विचार’ पर,
क्योंकि वे ”शब्द” बनते हैँ।

नज़र रखो अपने ‘शब्द’ पर,
क्योंकि वे ”कार्य” बनते हैँ।

नज़र रखो अपने ‘कार्य’ पर,
क्योंकि वे ”स्वभाव” बनते हैँ।

नज़र रखो अपने ‘स्वभाव’ पर,
क्योंकि वे ”आदत” बनते हैँ।

नज़र रखो अपने ‘आदत’ पर,
क्योंकि वे ”चरित्र” बनते हैँ।

नज़र रखो अपने ‘चरित्र’ पर,
क्योंकि उससे ”जीवन आदर्श” बनते हैँ।

Share This
Page 1 of 3
1 2 3