5

प्यार में हद से गुजर जाने की रोमांटिक लव शायरी

जब यार मेरा हो पास मेरे, मैं क्यूँ न हद से गुजर जाऊँ,
जिस्म बना लूँ उसे मैं अपना, या रूह मैं उसकी बन जाऊँ।
लबों से छू लूँ जिस्म तेरा, साँसों में साँस जगा जाऊँ,
तू कहे अगर इक बार मुझे, मैं खुद ही तुझमें समा जाऊँ।

Share This
3

ज़ज़्बात से वाकिफ कलम प्यार शायरी

अलफ़ाज़ की शक्ल में एहसास लिखा जाता हैं
यहाँ पानी को भी प्यास लिखा जाता हैं
मेरे ज़ज़्बात से वाकिफ हैं मेरी कलम,
मैं प्यार लिखू तो तेरा नाम लिखा जाता हैं

~ N.M

Share This
1

Beautiful Shayari for Loving & Caring Husband

मेरी शायरी के हर अलफ़ाज़ में मैंने आपको सजाया,
मेरी यादों के हर किस्से में मैंने आपको ही पाया,
ख़ुशी हो या गम साथ, आपने हर पल निभाया
रोशन हुयी ज़िन्दगी जब से सनम आपको बनाया

I Love You My Hubby

~ शिखा

Share This

हैप्पी वैलेंटाइन्स डे शायरी सच्चे आशिक़ के लिए

हैप्पी वैलेंटाइन्स डे शायरी

 

आप हमसे हम आपसे प्यार पाते रहे
मोहब्बत का एहसास युही जगाते रहे
होके हमेशा के लिए एक दूसरे के….
वैलेंटाइन्स डे हम साथ मनाते रहे

हैप्पी वैलेंटाइन जान

Share This
4

Awesome Feeling in Love Ehsaas Shayari

दिल की खिड़की से बाहर देखो ना कभी
बारिश की बूँदों सा है एहसास मेरा…

घनी जुल्फों की गिरह खोलो ना कभी
बहती हवाओं सा है एहसास  मेरा….

छूकर देखो कभी तो मालूम होगा तुम्हें
सर्दियों की धूप सा है एहसास मेरा ।

Share This
13

Very very very sad dard shayari on pyar & zindagi

जाने क्यूँ आजकल, तुम्हारी कमी अखरती है बहुत
यादों के बन्द कमरे में, ज़िन्दगी सिसकती है बहुत

पनपने नहीं देता कभी, बेदर्द सी उस ख़्वाहिश को
महसूस तुम्हें जो करने की, कोशिश करती है बहुत

दावे करती हैं ज़िन्दगी, जो हर दिन तुझे भुलाने के
किसी न किसी बहाने से, याद तुझे करती है बहुत

आहट से भी चौंक जाए, मुस्कराने से ही कतराए
मालूम नहीं क्यों ज़िन्दगी, जीने से डरती है बहुत।

Share This

Awesome Romantic Love Sms | 2 bund mere pyar ki

“जाम पे जाम पीने से क्या फायदा,
शाम को पी सुबह उतर जाएगी,
अरे दो बूंद मेरे प्यार की पीले,
जिन्दगी सारी नशेमे गुज़र जाएगी”

 

Jaam pe jaam pine se kya fayda
Shaam ko pee subah utar jayegi
Are 2 boond mere pyar ki pee le,
Zindagi sari nashe me gujar jayegi

Share This
8

Sad Good Night Love Shayari

Raat aati hain teri yaad chali aati hain
Kis shahar se teri aawz chali aati hain

Chand ne khub saha h suraj ki agan
Teri ye aag mujse nahi sahi jati hain

Dil me utari hai teri dard bhari aankhe
Meri aankho me wahi pyas jag jati hai

Humne dekha tha khud ko teri surat me
Aayina dek kar ab raat kat jati hain

Share This
Page 5 of 13
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 13