1

बारिश की हर बूँद तेरी याद दिलाती है

बारिश की हर बूँद कुछ मीठी याद दिलाती है
तेरे साथ ना होने पर भी साथ होने का एहसास दिलाती है
लाखो दूरियाँ सही पर तेरी नज़दीकियों का एहसास दिलाती है
भीग जाऊ उन सिमटी यादों में, के अब हर बूँद मुझे तेरी याद दिलाती है

0

वो मोहब्बत ही क्या जिसके काबिल ना बन सके

वो ख़्वाब ही क्या जिसे पूरा ना कर सके….
वो मंजिल ही क्या जिसे हासिल ना करे सके
वो बेगुनाही ही क्या जिसे साबित ना करे सके
और वो मोहब्बत ही क्या जिसके काबिल ना बन सके

~ Sweety Phogat

1

शमा और परवाने की इश्क़ मोहब्बत शायरी

ना जाने मुहब्बत में कितने अफसाने बन जाते है,
शमां जिसको भी जलाती है, वो परवाने बन जाते है।
कुछ हासिल करना ही इश्क कि मंजिल नही होती,
किसी को खोकर भी, कुछ लोग दिवाने बन जाते है।

1

राह में उनसे पहली मुलाकात की शायरी

चलते चलते राह में उनसे पहली मुलाकात हुई,
वो कुछ शरमाई फिर सहम सी गई,
दिल तो हमारा भी किया कि कह दे उनसे
अपने दिल की बात…
पर कम्बखत इस दिल की इतनी हिम्मत ही न हुई.

5

प्यार में हद से गुजर जाने की रोमांटिक लव शायरी

जब यार मेरा हो पास मेरे, मैं क्यूँ न हद से गुजर जाऊँ,
जिस्म बना लूँ उसे मैं अपना, या रूह मैं उसकी बन जाऊँ।
लबों से छू लूँ जिस्म तेरा, साँसों में साँस जगा जाऊँ,
तू कहे अगर इक बार मुझे, मैं खुद ही तुझमें समा जाऊँ।

3

ज़ज़्बात से वाकिफ कलम प्यार शायरी

अलफ़ाज़ की शक्ल में एहसास लिखा जाता हैं
यहाँ पानी को भी प्यास लिखा जाता हैं
मेरे ज़ज़्बात से वाकिफ हैं मेरी कलम,
मैं प्यार लिखू तो तेरा नाम लिखा जाता हैं

~ N.M

Page 1 of 14
1 2 3 4 5 6 14