2

जरा उडक़र तो देखो सत्य वचन हिंदी कोट

मकड़ी भी नहीं फँसती,
अपने बनाये जालों में।

जितना आदमी उलझा है,
अपने बुने ख़यालों में…।।

तुम निचे गिरके देखो…
कोई नहीं आएगा उठाने…!!!

तुम जरा उडक़र तो देखो…
सब आयेंगे गिराने……!!!

Share This
3

Shayai on Nasihat

सबको पता है कि मौत आनी है एक दिन
फिर भी बेखबर सब यूँही जिये जा रहे हैं

औरों को तो नसीहत देते हैं खुश रहने की
और खुद है कि लहू के घूँट पिये जा रहे हैं

Share This
Page 2 of 6
1 2 3 4 5 6