Life Inspirational Poems in Hindi

तू जिंदगी को जी,
उसे समझने की कोशिश न कर

सुन्दर सपनो के ताने बाने बुन,
उसमे उलझने की कोशिश न कर

चलते वक़्त के साथ तू भी चल,
उसमे सिमटने की कोशिश न कर

अपने हाथो को फैला, खुल कर साँस ले,
अंदर ही अंदर घुटने की कोशिश न कर

मन में चल रहे युद्ध को विराम दे,
खामख्वाह खुद से लड़ने की कोशिश न कर

कुछ बाते भगवान् पर छोड़ दे,
सब कुछ खुद सुलझाने की कोशिश न कर

जो मिल गया उसी में खुश रह,
जो सकून छीन ले वो पाने की कोशिश न कर

रास्ते की सुंदरता का लुत्फ़ उठा,
मंजिल पर जल्दी पहुचने की कोशिश न कर !

Sweet Love Poetry in Hindi on Khamoshi

सुनो… यूँ “चुप” से न रहा करो,

यूँ “खामोश” से जो हो जाते हो,
तो दिल को “वहम” सा हो जाता है,

कहीं “खफा” तो नही हो..??
कहीं “उदास” तो नही हो…??

तुम “बोलते” अच्छे लगते हो,
तुम “लड़ते” अच्छे लगते हो,

कभी “शरारत” से, कभी “गुस्से” से,
तुम “हँसते” अच्छे लगते हो,

सुनो… यूँ “चुप” से ना रहा करो।

 

Motivational Poems in Hindi about Success

कोशिश कर, हल निकलेगा।
आज नही तो, कल निकलेगा।

अर्जुन के तीर सा सध,
मरूस्थल से भी जल निकलेगा।।

मेहनत कर, पौधो को पानी दे,
बंजर जमीन से भी फल निकलेगा।

ताकत जुटा, हिम्मत को आग दे,
फौलाद का भी बल निकलेगा।

जिन्दा रख, दिल में उम्मीदों को,
गरल के समन्दर से भी गंगाजल निकलेगा।

कोशिशें जारी रख कुछ कर गुजरने की,
जो है आज थमा थमा सा, चल निकलेगा।।

Superb Zindagi Hindi Poems on Friendship

उलझनों और कश्मकश में उम्मीद की ढाल लिए बैठा हूँ …
ए जिंदगी! तेरी हर चाल के लिए मैं दो चाल लिए बैठा हूँ |

लुत्फ़ उठा रहा हूँ मैं भी आँख – मिचौली का …
मिलेगी कामयाबी हौसला कमाल लिए बैठा हूँ l

चल मान लिया दो-चार दिन नहीं मेरे मुताबिक
गिरेबान में अपने ये सुनहरा साल लिए बैठा हूँ l

ये गहराइयां, ये लहरें, ये तूफां, तुम्हें मुबारक …
मुझे क्या फ़िक्र मैं कश्तियां और दोस्त बेमिसाल लिए बैठा हूँ…

Long Sad Shayari in Hindi on Silent Love

“मिला वो भी नही करते,
मिला हम भी नही करते.”

“दगा वो भी नही करते,
दगा हम भी नही करते.”

“उन्हे रुसवाई का दुख,
हमे तन्हाई का डर”

“गिला वो भी नही करते,
शिकवा हम भी नही करते.”

“किसी मोड़ पर मुलाकात हो जाती है अक्सर”
“रुका वो भी नही करते,
ठहरा हम भी नही करते.”

“जब भी देखते हैं उन्हे,
सोचते है कुछ कहें उनसे.”

“सुना वो भी नही करते,
कहा हम भी नही करते.”

“लेकिन ये भी सच है,
की मोहब्बत उन्हे भी हे हमसे”

“इकरार वो भी नही करते,
इज़हार हम भी नही करते.”

Awesome Dard Bhari Hindi Poetry

Mere pehlu mein bhi ek shama jala karti h
Jiski lou se teri tasveer bana karti hain,

Samne tere zuban band hi rehti hai magar,
Dil ki jo baat hai wo aankh bayan karti hai,

Chup kyu ho humse koi baat karo ae-dilwar,
Aise khamoshi se to takleef badaa karti hai,

Shamma jalti h to zamane ko pata chalta h,
Dil k jalne ki khabar aakhir kisko hua karti h

Ladkiya bewafa nahi hoti | Short Hindi Poems on Girls

Larkiyaan Bewafaa nahi hoti
Wo to majburiyo mein lipti hain

Apne shiddat bhare khyaloon mein
Apne ander chhupi ek aurat mein

Wo hamesha hi darti rehti hain
Na to jeeti hain na to marti hain

Apne reet or rawajoon se
Aane wale naye azaboon se

Zarurat mein khile ghulaboon se
Pyaar karti hain or chhupati hain

Larkiyaan Bewafaa nahi hoti
Kyu k majborioon mein lepti hain

Aur har lamha darti rehti hain
Apne pyaar se, apne saye se

Apne rishton se, dil ki dharkan se
Apni khwahish, se apni kushioon se

Larkiyaan Bewafaa nahi hoti

Page 5 of 7
1 2 3 4 5 6 7