0

International Yoga Day in Hindi

Yoga has been in action since old age days. The purpose of yoga is to keep people healthy and away from diseases. Additionally, yoga keeps you fit and slim. You get all the energy and power you need for the rest of the day from doing a yoga session in the morning. It’s like one yoga session per day keeps the doctor away. Yoga is responsible for healthy blood circulation in your body. People are following yoga or because it’s nice, easy and convenient to do yoga. You can practice yoga in your house also and you don’t need any type of equipment to do yoga. To get yourself motivated and inspired you can read the Hindi Yoga quotes on this trueshayari page. There are many International yoga day quotes in Hindi on the internet. You can also like and share them with your friends and family too. Happy International Yoga Day in Hindi Short Lines Status and Quotes for school, college students.

International Yoga Day in Hindi

International Yoga Day in Hindi

International Yoga Day in Hindi

 

योग मन की दुखो की समाप्ति है.-महर्षि पतंजलि

 

योग मन को शान्त रखने का एक अभ्यास है. ~ महर्षि पतंजलि

 

योग वह प्रकश है जो एक बार जला दिया जाए तो कभी कम नहीं होता। जितना अच्छा आप अभ्यास करेंगे, लौ उतनी ही उज्जवल होगी।

 

योग करने के लिए सबसे महत्त्वपूर्ण उपकरण जो आपको चाहिए होंगे वो हैं आपका शरीर और आपका मन

 

आप कौन हैं यह जानना है तो योग करे।

 

आप योग नहीं कर सकते। योग आपकी प्राकृतिक अवस्था है। आप जो कर सकते हैं वो है योग व्यायाम, जो ये उजागर कर सकता है कि आप कहाँ अपनी प्राकृतिक अवस्था का विरोध कर रहे हैं।

 

योग मनुष्य को मानसिक और शारीरिक रूप से ताकत देता हैं|

 

योग आप को फिर से एक बच्चे की तरह बना देता है, जहाँ योग और वेदांत है वहां, कोई कमी, अशुद्धता, अज्ञानता और अन्याय नहीं है.

 

मन की शांति के लिए सबसे अच्छा साधन योग हैं.

 

सभी बीमारियों का उपचार योग और स्वस्थ जीवन शैली में निहित है।- बाबा रामदेव

 

योग मन को शांति में स्थिर करना है। जब मन स्थिर हो जाता है , हम अपनी आवश्यक प्रकृति में स्थापित हो जाते हैं , जोकि असीम चेतना है। हमारी आवश्यक प्रकृति आम तौर पर मस्तिष्क की गतिविधियों द्वारा ढक दी जाती है।- पतंजलि

 

व्यायाम गद्य की तरह है , जबकि योग गति की कविता है। एक बार जब आप योग का व्याकरण समझ जाते हैं ; आप अपने गति की कविता लिख सकते हैं।- अमित रे

 

योग वह प्रकश है जो एक बार जला दिया जाए तो कभी कम नहीं होता। जितना अच्छा आप अभ्यास करेंगे, लौ उतनी ही उज्जवल होगी।

 

योग करने के लिए सबसे महत्त्वपूर्ण उपकरण जो आपको चाहिए होंगे वो हैं आपका शरीर और आपका मन

 

गहरे ध्यान में एकाग्रता का प्रवाह, तेल के निरंतर प्रवाह की तरह होता है.-महर्षि पतंजलि

 

योग हमें उन चीजों को ठीक करना सिखाता है जिसे सहा नहीं जा सकता और उन चीजों को सहना सिखाता है जिन्हे ठीक नहीं किया जा सकता।

 

जब सांसें विचलित होती हैं तो मन भी अस्थिर हो जाता है। लेकिन जब सांसें शांत हो जाती हैं, तो मन भी स्थिर हो जाता है, और योगी दीर्घायु हो जाता है। इसलिए हमें श्वास पर नियंत्रण करना सीखना चाहिए।

 

योग को दृढ निश्चय के साथ बिना किसी मानसिक संदेह के करना चाहिए।

 

मैं योग को प्यार करता हूँ क्योंकि यह न केवल यह हमारे शरीर के लिए कसरत है बल्कि हमारी श्वास भी है जो अत्यधिक तनाव को मुक्त करने में मदद करता है योग सचमुच हमे दिन की दिनचर्या के लिए तैयार करता है।

 

एक फोटोग्राफर लोगों से उसके लिए पोज दिलवाता है। एक योग प्रशिक्षक लोगों से खुद के लिए पोज दिलवाता है।

 


Check thisVery Short Captions about Yoga


 

Hindi Quotes on Yoga and Meditation

Quotes on Yoga and Meditation

Quotes on Yoga and Meditation

 

योग मन की दुखो की समाप्ति है.-महर्षि पतंजलि

 

योग मन को शान्त रखने का एक अभ्यास है.-महर्षि पतंजलि

 

योग वह प्रकश है जो एक बार जला दिया जाए तो कभी कम नहीं होता। जितना अच्छा आप अभ्यास करेंगे, लौ उतनी ही उज्जवल होगी।

 

योग करने के लिए सबसे महत्त्वपूर्ण उपकरण जो आपको चाहिए होंगे वो हैं आपका शरीर और आपका मन

 

आप कौन हैं यह जानना है तो योग करे।

 

आप योग नहीं कर सकते। योग आपकी प्राकृतिक अवस्था है। आप जो कर सकते हैं वो है योग व्यायाम, जो ये उजागर कर सकता है कि आप कहाँ अपनी प्राकृतिक अवस्था का विरोध कर रहे हैं।

 

योग मनुष्य को मानसिक और शारीरिक रूप से ताकत देता हैं.

 

योग आप को फिर से एक बच्चे की तरह बना देता है, जहाँ योग और वेदांत है वहां, कोई कमी, अशुद्धता, अज्ञानता और अन्याय नहीं है.

 

मन की शांति के लिए सबसे अच्छा साधन योग हैं.

 

सभी बीमारियों का उपचार योग और स्वस्थ जीवन शैली में निहित है।- बाबा रामदेव

 

योग मन को शांति में स्थिर करना है। जब मन स्थिर हो जाता है , हम अपनी आवश्यक प्रकृति में स्थापित हो जाते हैं , जोकि असीम चेतना है। हमारी आवश्यक प्रकृति आम तौर पर मस्तिष्क की गतिविधियों द्वारा ढक दी जाती है।- पतंजलि

 

व्यायाम गद्य की तरह है , जबकि योग गति की कविता है। एक बार जब आप योग का व्याकरण समझ जाते हैं ; आप अपने गति की कविता लिख सकते हैं।- अमित रे

 

योग वह प्रकश है जो एक बार जला दिया जाए तो कभी कम नहीं होता। जितना अच्छा आप अभ्यास करेंगे, लौ उतनी ही उज्जवल होगी।

 

योग करने के लिए सबसे महत्त्वपूर्ण उपकरण जो आपको चाहिए होंगे वो हैं आपका शरीर और आपका मन

 

गहरे ध्यान में एकाग्रता का प्रवाह, तेल के निरंतर प्रवाह की तरह होता है.-महर्षि पतंजलि

 

योग हमें उन चीजों को ठीक करना सिखाता है जिसे सहा नहीं जा सकता और उन चीजों को सहना सिखाता है जिन्हे ठीक नहीं किया जा सकता।

 

जब सांसें विचलित होती हैं तो मन भी अस्थिर हो जाता है। लेकिन जब सांसें शांत हो जाती हैं, तो मन भी स्थिर हो जाता है, और योगी दीर्घायु हो जाता है। इसलिए हमें श्वास पर नियंत्रण करना सीखना चाहिए।

 


CheckMeditation Quotes in English


 

योग को दृढ निश्चय के साथ बिना किसी मानसिक संदेह के करना चाहिए।

 

मैं योग को प्यार करता हूँ क्योंकि यह न केवल यह हमारे शरीर के लिए कसरत है बल्कि हमारी श्वास भी है जो अत्यधिक तनाव को मुक्त करने में मदद करता है योग सचमुच हमे दिन की दिनचर्या के लिए तैयार करता है।

 

एक फोटोग्राफर लोगों से उसके लिए पोज दिलवाता है। एक योग प्रशिक्षक लोगों से खुद के लिए पोज दिलवाता है।

 

जब आप सांस लेते हैं, आप भगवान से शक्ति ले रहे होते हैं। जब आप सांस छोड़ते हैं तो ये उस सेवा को दर्शाता है जो आप दुनिया को दे रहे हैं।

 

योग से ही मनुष्य योग्य बनता हैं.

 

योग एक आध्यात्मिक प्रकिया को कहते हैं जिसमें शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने का काम होता है.

 

आत्मा को जो परमात्मा से जोड़ दे वही योग हैं.

 

योग एक तरह से लगभग संगीत जैसा है; इसका कोई अंत नहीं है।-स्टिंग

 

यह योग उसके लिए संभव नहीं है जो बहुत अधिक खाता है , या जो बिलकुल भी नहीं खाता ; जो बहुत अधिक सोता है , या जो हमेशा जगा रहता है।- भगवद गीता

 

योग वास्तव में हमें … हमारे शरीर के शर्मिंदगी से स्वतंत्र करने का प्रयास कर रहा है। अपने शरीर से प्रेम करना बहुत ज़रूरी चीज है — मेरा मानना है आपके दिमाग की सेहत आपके अपने शरीर को प्रेम करने की योग्यता पर निर्भर करती है।- रॉडने यी

 

योग स्वीकार करता है। योग प्रदान करता है।- एप्रिल वैली

 

चित्त की वृत्तियों का निरोध ही योग है.-महर्षि पतंजलि

 

योग हर वह व्यक्ति कर सकता है जो वास्तव में इसे चाहता है क्योंकि योग सार्वभौमिक है. -श्री कृष्ण पट्टाभि जॉइस

 

आप कौन हैं इस बारे में उत्सुक होने के लिए योग एक सही अवसर है। -जेसन क्रैंडल

 

जो कोई भी अभ्यास करता है वहयोग में सफलता पा सकता है लेकिन वो नहीं जो आलसी है। केवल निरंतर अभ्यास ही सफलता का रहस्य है|-स्वात्मरामा

 

मेरे लिए, योग सिर्फ एक कसरत नहीं है – यह अपने आप पर काम करने के बारे में है। -मैरी ग्लोवर

 

योग 99% अभ्यास और 1% सिद्धांत है। -श्री कृष्ण पट्टाभि जॉइस

 

योग हर उस व्यक्ति के लिए संभव है जो वास्तव में इसे चाहता है। योग सार्वभौमिक है ….लेकिन योग को सांसारिक लाभ हेतु एक व्यवसायिक दृष्टिकोण से ना अपनाएं। -श्री कृष्ण पट्टाभि जॉइस

 

योग विश्राम में उत्साह है। दिनचर्या में स्वतंत्रता। आत्म नियंत्रण के माध्यम से विश्वास। भीतर ऊर्जा और बाहर ऊर्जा । – यम्बर डेलेक्टो

 

सभ्यता से घायल लोगों के लिए, योग सबसे बड़ा मरहम है। – टी गिलेमेट्स

 

शरीर आपका मंदिर है। आत्मा के निवास के लिए इसे पवित्र और स्वच्छ रखिये। -बी . के . एस आयंगर

 


 

Also, Visit

 


 

कर्म योग में कभी कोई प्रयत्न बेकार नहीं जाता, और इससे कोई हानि नहीं होती। इसका थोड़ा सा भी अभ्यास जन्म और मृत्यु के सबसे बड़े भय से बचाता है।

 

व्यायाम गद्य की तरह है , जबकि योग गति की कविता है। एक बार जब आप योग का व्याकरण समझ जाते हैं ; आप अपने गति की कविता लिख सकते हैं।- अमित रे

 

Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.