0

अपने दिल की बात सुनाओ ज़रा

 

मन में प्यार छुपाए क्यों हो,
अपनी बात को सामने लाओ ज़रा,
कुछ यादगार पल बिताने है,
अपने दिल की बात तो सुनाओ ज़रा।

 

~ सृष्टि मौर्य

 

Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.