2

उम्र गुजर रही है

उम्र गुजर रही है, तराजू के पलड़ों में……..।
कभी रिश्ते भारी हो रहे है, तो कभी अरमान

Comments

comments

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *