2

यूँ तूने हमको अगर रुलाया ना होता

उलझन भरे दिन हैं मेरे, तनहा हैं राते
दे जाती हैं जख्म, मुझे तेरी वो बातें

हम भी बढ़ के थाम लेते तेरा दामन
यूँ तूने हमको अगर रुलाया ना होता

तेरी नजरो के हम भी एक नज़ारे होते
जो तूने अपनी नजरो में हमे बसाया होता

2

तेरी आँखों में नहीं, तेरी रूह में बस्ता हूँ

तेरी दुआओं का असर है, जो अब तक मैं सलामत हूँ.!
तेरी आँखों की नमी नहीं, हाथों की लकीरों में बस्ता हूँ
मैं जानता हूँ जान-ए-जहाँ, तुझे बस मोहब्बत है मुझ से
तेरी साँसों की राह पकड़…., तेरी रूह में बस्ता हूँ….|

~ Ravinder Ravi (Sagar)

1

Tanha Sad Shayari on Teri Yaad

तेरी याद मुझे क्यों तनहा कर जाती हैं
पल पल टूटने के लिए मजबूर कर जाती हैं

रोता हूँ बहुत मैं तो गिड़गिड़ाता भी हूँ
अपने झख्मो पर मरहम लगता भी हूँ

फिर भी क्यों ये एहसास बार बार दे जाती हैं
तेरी याद मुझे क्यों तनहा कर जाती हैं

 


 

Teri yaad mujhe kyu tanha kar jati h
Pal pal tutne k liye majboor kar jati h

Rota hun bahut m to gidgidata bhi hu
Apne jhakhmo pr merham lgata bhi hu

Fir bhi kyu ye ehsas bar- bar de jati h
Teri yaad mujhein kyu tanha kar jati h