0

Sad & Broken Heart Shayari for Boyfriend

इतनी तन्हाइयाँ हैं,
डर भी सकती हूँ,

दर्द -ओ- ग़म की आँधियों से,
टूट कर बिखर भी सकती हूँ,

तुम मुझसे दूर तो चले गये,
पर ये तलक कभी नहीं सोचा,

मैं तो पागल हूँ,
मर भी सकती हूँ ?

Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *