Aalam Dil ki bebasi ka, Dard aankho ki nami ka

कैसे बयान करे आलम दिल की बेबसी का,
वो क्या समझे दर्द आंखों की नमी का..
ऊनके चाहने वाले ईतने हो गये की…..
उन्हे एहसास नहीं हमारी कमी का……

Comments

comments