Dukh Bhari Shayri on Gareeb Ki Majburi

हाथ में उसको कलम का आना अच्छा लगता है
उसको भी स्कूल को जाना अच्छा लगता है
बड़ा कर दिया मजबूरी ने वक्त से पहले वरना
सर पर किसको बोझ उठाना अच्छा लगता है !!

Comments

comments