1

Shayai on Nasihat

सबको पता है कि मौत आनी है एक दिन
फिर भी बेखबर सब यूँही जिये जा रहे हैं

औरों को तो नसीहत देते हैं खुश रहने की
और खुद है कि लहू के घूँट पिये जा रहे हैं

0

Apno se hi jab yakeen tutne lagta h

यकीन जब कभी खुद टूटने लगता है
साथ मेरा ही मुझसे फिर छूटने लगता है

हद से ज्यादा तकलीफ होती है तब
जब अंदर ही अंदर ज़ख्म फूटने लगता है

बहुत रोता है ये दिल चीख चीख कर
कोई अपना मेरा जब मुझे लूटने लगता है

कुछ इस तरह टूटने लगा हूँ मैं आजकल
जैसे शीशा कोई खुद ब खुद टूटने लगता है ।

1

Cute & Caring Love Poetry for Girlfriend

मेरी फिक्र में खुद को भूल जाती हो
और बेखबर हो मुझ को ये जताती हो

होने लगती हो जिस पल दूर मुझसे
कसम से उस पल बहुत याद आती हो

चाहती हो कितना, पूछू जब कभी तो
आँखों ही आँखों में सब कुछ बताती हो

मोहब्बत में मेरी खुद को भुलाए बैठी हो
और दिल में अपने जज़्बात छुपाती हो ।